Never miss a great news story!
Get instant notifications from Economic Times
AllowNot now


You can switch off notifications anytime using browser settings.

प्रॉपर्टी

24 November, 2020, 01:26 AM IST
घर खरीदने से पहले रियल्‍टी कंपनियों के ऑफर्स की बारीकियां समझ लें, होगा फायदा

बहुत कम पैसों के साथ बुकिंग (जैसे 5%, 10%) और पजेशन पर बैलेंस का भुगतान जैसे पेमेंट के फ्लेक्सिबल विकल्‍पों को लेकर अधिक सावधान रहें.

रियल एस्‍टेट सेक्‍टर के लिए 2020-21 मुश्किल साल रहेगा : क्रिसिल

क्रिसिल ने कहा कि चालू वित्त वर्ष में 10 शीर्ष शहरों में रीयल्टी सेक्‍टर की प्राइमरी सेल में 50 फीसदी की गिरावट आने का अनुमान है.

गिरवी रखी गई प्रॉपर्टी कैसे बेचें?

प्रॉपर्टी पर लोन के मामले में बैंक और वित्‍तीय संस्‍थान अमूमन इसे अपने पास गिरवी रखते हैं. जब तक लोन लेने वाला व्‍यक्ति बैंक का बकाया लौटा नहीं देता है तब तक प्रॉपर्टी गिरवी रहती है. ऐसा हो सकता है कि कोई प्रॉपर्टी के गिरवी रहने के दौरान इसे बेचना चाहता हो. चूंकि लोन बंद हो जाने तक प्रॉपर्टी के सभी ओरिजनल डॉक्‍यूमेंट्स बैंक की कस्‍टडी में होते हैं. ऐसे में गिरवी रखी गई प्रॉपर्टी को बेचने के लिए खास तरीका अपनाना पड़ता है. आइए, यहां उसके बारे में देखते हैं.

रियल एस्टेट सेक्टर को राहत पैकेज से घट सकती हैं फ्लैट की कीमतें

सरकार ने 2 करोड़ रुपये मूल्य तक की आवासीय इकाइयों की प्राथमिक अथवा पहली बार बिक्री सर्कल दर से 20 प्रतिशत तक कम दाम पर करने की अनुमति दी है.

घर खरीदारों को इनकम टैक्‍स में बड़ी राहत, जानिए आपको कैसे होगा फायदा

मौजूदा टैक्‍स नियमों के अनुसार, रियल एस्‍टेट प्रॉपर्टियों को 'सर्किल रेट' या स्‍थानीय सरकारी प्राधिकरण की ओर से तय कीमत से कम पर नहीं बेचा जा सकता है. अगर ऐसा किया जाता है तो टैक्‍स के रूप में पेनाल्‍टी लगती है.

पीएम आवास योजना-शहरी के लिए सरकार का बड़ा एलान, बनेंगे 12 लाख नए घर

वित्त मंत्री ने कहा कि इससे 78 लाख नए रोजगार के मौके पैदा होंगे. साथ ही स्टील और सीमेंट की मांग भी बढ़ेगी. यह 25 लाख टन स्‍टील और 131 लाख टन सीमेंट की खपत पैदा करेगा.

प्रधानमंत्री आवास योजना-ग्रामीण में कैसे करें आवेदन?

केंद्र सरकार प्रधानमंत्री आवास योजना-ग्रामीण के तहत मिले आवेदनों के आधार पर लाभर्थियों का चुनाव करती है.

रेरा के बावजूद ग्राहक रीयल एस्टेट कंपनियों के खिलाफ उपभोक्ता मंच में जा सकते हैं: सुप्रीम कोर्ट

सुप्रीम कोर्ट के इस फैसले से मकान खरीदने वाले कई लोगों को राहत मिलने की उम्मीद है.

गिरवी रखी गई प्रॉपर्टी बेचने का क्‍या तरीका है?

चूंकि लोन बंद हो जाने तक प्रॉपर्टी के सभी ओरिजनल डॉक्‍यूमेंट्स बैंक की कस्‍टडी में होते हैं. ऐसे में गिरवी रखी गई प्रॉपर्टी को बेचने के लिए खास तरीका अपनाना पड़ता है. आइए, यहां उसके बारे में देखते हैं.

अंडर-कंस्‍ट्रक्‍शन अपार्टमेंट में लौटी खरीदारी, जानिए क्‍या है वजह

रियल एस्‍टेट कंपनियां ग्राहकों को लुभाने के लिए तरह-तरह की स्‍कीमें लाने के साथ ही अपने प्रोजेक्‍टों को पूरा करने के लिए कैश भी उठा रही हैं.

होम लोन पर एक साल के लिए सिर्फ 3.99% ब्याज, इस कंपनी ने पेश की स्‍कीम

पारंपरिक तौर पर फेस्टिव सीजन के दौरान घरों की बिक्री ज्‍यादा रहती है. यही कारण है कि रियल एस्‍टेट डेवलपर ग्राहकों को लुभाने के लिए इस दौरान तरह-तरह की स्‍कीमों को लॉन्‍च करते हैं.

लुटियंस जोन के रियल एस्‍टेट मार्केट पर कोरोना का असर, कीमतें 10% लुढ़कीं

ब्रोकरों ने यह भी बताया कि पिछले कुछ सालों से बाजार में जो खरीदार मौजूद हैं, उन्‍हें मालूम है कि यह खरीदारी के लिए सबसे अच्‍छा समय है.

सरकार की स्‍वामित्‍व योजना के बारे में यहां जानिए सब कुछ

केंद्र सरकार ने हाल में ग्रामीण इलाकों में रहने वाले लोगों के लिए एक अहम स्‍कीम शुरू की है. इसका नाम स्‍वामित्‍व योजना है. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 24 अप्रैल 2020 को राष्‍ट्रीय पंचायती राज दिवस पर इस स्‍कीम की शुरुआत की. इस स्‍कीम का मकसद गांव में रहने वाले लोगों को अपनी संपत्ति के दस्‍तावेज उपलब्‍ध कराना है. इसके तहत उन्‍हें प्रॉपर्टी कार्ड दिए जाएंगे. स्‍कीम की शुरुआत करते हुए पीएम ने कुछ लोगों को प्रॉपर्टी कार्ड बांटे. इस स्‍कीम का कामकाज पंचायती राज मंत्रालय देखेगा.

सस्‍ता होगा होम लोन, आरबीआई ने लिया यह बड़ा फैसला

केंद्रीय बैंक ने होम लोन पर रिस्‍क वेट को तर्कसंगत बनाने के साथ इन्‍हें केवल एलटीवी रेशियो के साथ जोड़ने का फैसला किया है. 31 मार्च, 2022 तक सैंक्‍शन होने वाले सभी नए हाउसिंग लोन पर ये नियम लागू होंगे.

टॉप 6 शहरों में जुलाई-सितंबर के दौरान घरों की कीमतें 7% तक कम हुईं : रिपोर्ट

हालांकि, इस दौरान बेंगलुरु और हैदराबाद में घरों की औसत कीमतें साल भर पहले की तुलना में क्रमश: तीन और चार फीसदी बढ़ गईं.

Load More...

हमें फॉलो करें


ईटी ऐप हिंदी में डाउनलोड करें


Copyright © 2020 Bennett, Coleman & Co. Ltd. All rights reserved. For reprint rights: Times Syndication Service

BACK TO TOP