Never miss a great news story!
Get instant notifications from Economic Times
AllowNot now


You can switch off notifications anytime using browser settings.
The Economic Times

क्या क्रेडिट कार्ड पर अपनी क्रेडिट लिमिट आपको बढ़ानी चाहिए?

हीरल थानवाला द्वारा

देवेंद्र कुमार हर महीने अपने क्रेडिट कार्ड पर लगभग 40,000 रुपये खर्च करते हैं. हालांकि वह समय पर पूरा बिल चुकता करते हैं, लेकिन लगभग 80% का उच्च क्रेडिट युटिलाइजेशन (उनके क्रेडिट कार्ड की क्रेडिट लिमिट 50,000 रुपये है) लेंडर्स के लिए लाल झंडी है. इससे संकेत मिलता है कि वह अपने कार्ड की लिमिट उच्चतम स्तर तक बढ़ाने के जोखिम पर है और देय राशि चुकाने में समस्या हो सकती है. क्रेडिट ब्यूरो किसी व्यक्ति के क्रेडिट स्कोर की गणना करते समय क्रेडिट युटिलाइजेशन रेशियो का ध्यान रखते हैं. उच्च क्रेडिट युटिलाइजेशन रेशियो का मतलब कम स्कोर होता है. नवीन कुकरेजा, प्रबंध निदेशक, Paisabazaar.com कहते हैं, "20-30% का क्रेडिट युटिलाइजेशन रेशियो बेहतर होता है. यदि यह रेशियो अधिक होता है, तो आवेदक को क्रेडिट के लिए भूखे व्यक्ति के रूप में देखा जाता है, ". Wealthy .in के संस्थापक आदित्य अग्रवाल कहते हैं, "यह संभव है कि बैंक इस तरह के व्यक्तियों के लिए क्रेडिट पर ज्यादा ब्याज चार्ज करें क्योंकि उन्हें जोखिम भरे ग्राहक के रूप में देखा जाता है," . अब, यदि कुमार के कार्ड की क्रेडिट लिमिट बढ़ा दी जाती है, उनका क्रेडिट युटिलाइजेशन रेशियो नीचे आ जाएगा. उदाहरण के लिए, यदि क्रेडिट लिमिट 50,000 रुपये की बजाय 1.5 लाख रुपये होती, तो 40,000 रुपये प्रति महीने खर्च करने के लिए कुमार का क्रेडिट युटिलाइजेशन रेशियो 27% होता. उपयोगकर्ता के पुर्नभुगतान इतिहास, लेनदेन, बकाया ऋण और आय में वृद्धि के आधार पर अधिकांश बैंक समय-समय पर क्रेडिट लिमिट में संशोधन करते हें. कार्डधारक भी क्रेडिट लिमिट में वृद्धि के लिए जारी करने वाले बैंक से अनुरोध कर सकता है. हालांकि, आम तौर पर कोई अतिरिक्त लागत शामिल नहीं होती है, लेकिन कार्ड के अपग्रेड के माध्यम से बढ़ोत्तरी के लिए चार्ज लग सकता है.

फायदे

बेहतर क्रेडिट स्कोर

कम क्रेडिट युटिलाइजेशन रेशियो से कार्ड धारक के क्रेडिट स्कोर में सुधार आता है जो उसे लेंडर की नजर में कम जोखिम भरा ग्राहक बनाता है. जारी करने वाले बैंक से बड़ा लोन प्राप्त करने के लिए उच्च क्रेडिट लिमिट का मोलतोल के साधन के रूप में भी इस्तेमाल किया जा सकता है.

पात स्थिति में सहायक

बड़ी लिमिट वाला क्रेडिट कार्ड अचानक अस्पताल में भर्ती जैसी आपात स्थितियों के दौरान काम आता है जहां अग्रिम में बड़ा भुगतान करना होता है .

अधिक खरीददारी शक्ति

अधिक लिमिट वाला कार्ड घर के लिए श्वेत वस्तुओं जैसी बड़ी खरीददारी करना आसान बनाता है.

कमियां

अंधाधुंध खर्च प्रोत्साहित करता है, यह कंपल्सिव शॉपर्स जो अपने क्रेडिट कार्ड से अंधाधुध खरीददारी करके अपना बजट पटरी से उतार सकते हैं, के लिए बुरा तोहफा है. इसका फिर क्रेडिट स्कोर पर नकारात्मक प्रभाव पड़ता है.

सुरक्षा जोखिम

यदि कार्ड की सुरक्षा से समझौता किया जाता है, तो नुकसान ज्यादा हो सकता है. धोखाधड़ी का जोखिम कम करने के लिए, उपयोगकर्र्ताओं को अलर्ट सेट अप करना चाहिए जिसके द्वारा जब उनके सामान्य खर्च पैटर्न से मेल न खाने वाला लेनदेन दिखाई देता है, बैंक उन्हें सूचित करता है.

उच्च ब्याज अदायगी

चूंकि बढ़ी हुई क्रेडिट लिमिट का मतलब अधिक से अधिक खर्च हो सकता है, प्रति माह पूरी राशि चुकाने में कार्ड धारक के असमर्थ होने की संभावना भी बढ़ सकती है. इसका मतलब उच्च ब्याज अदायगी होती है.

अपनी क्रेडिट लिमिट बढ़ाने का एक और तरीका कई क्रेडिट कार्ड चुनना है. हालांकि, यहाँ भी नुकसान है. Bankbazar.com के अधिल शेट्टी कहते हैं: "आप अधिक खर्च करते हैं और यदि आप भुगतान और क्रेडिट अवधि का अच्छी तरह से प्रबंधन नहीं कर सकते हैं तो डिफ़ॉल्ट की काफी अधिक संभावना होती है. इससे आपके क्रेडिट स्कोर पर नकारात्मक रूप से असर पड़ता है. "शेट्टी का कहना है कि उच्च लिमिट वाला सिंगल क्रेडिट कार्ड बेहतर समाधान है. आप कई कार्डों के सालाना शुल्क पर भी बचत करते हैं.

Stay on top of business news with The Economic Times App. Download it Now!